बाबा भैरवनाथ का एक ऐसा मंदिर जहाँ पर्ची पर समस्या लिखकर भक्त लगाते हें अर्जी


ऐसा माना जाता है कि जोधपुर स्थित बाबा भैरवनाथ इस कलयुग में भक्तों की सभी मनोकामना पूरी करते हैं। अगर आपको अपनी कुंडली के दोषों से मुक्ति या नई नौकरी और अपना भाग्य चमकाना है तो आप जोधपुर स्थित बाबा भैरवनाथ के मंदिर में अपनी अर्जी लगा सकते हैं। बाबा भैरवनाथ के इस दरबार में पर्चियों पर गिरे फूल भक्तों की मनोकामनाओं से रिश्ता रखते हैं। ये बात भले ही अविश्वस्नीय लगे पर सच है। यहां बाबा भैरवनाथ पर्चियों पर फूल गिराकर भक्तों की हर मनोकामना पूरी करते हैं। जी हां यहां एक फूल गिराकर बाबा तुरंत ही आपकी इच्छा पूरी होने का आशीर्वाद देते हैं। 

मेवाड़ के भदेसर में बना बाबा भैरवनाथ का मंदिर बेहद अनूठा है। यहां भक्त पर्ची पर लिखकर अपनी अर्जी लगाते हैं। पर्ची पर लिखकर अर्जी लगाने वाले भक्तों का विश्वास है कि बाबा जिस भी भक्त की अर्जी सुन लेते हैं उसकी पर्ची पर बाबा के माथे पर रखा फूल गिर जाता है। यह इस बात का प्रतीक है कि बाबा ने उस भक्त की सुन ली है और भक्त इस फूल को बाबा का प्रसाद समझकर ग्रहण करते हैं। बाबा भैरव को यहां भदेसरिया भैरव के नाम से पुकारा जाता है। ऐसी मान्यता है बाबा भैरव की प्रतिमा भगवान सोमनाथ के मंदिर में स्थित थी। महमूद गजनवी के आक्रमण के समय इसे बचाने के लिए कैलशपुरी के एकलिंगनाथ मंदिर के पास स्थापित कर दिया गया।